Пиковая дама

Пиковая дама पुस्तक पीडीएफ डाउनलोड करें

विचारों:

675

भाषा:

रूसी

रेटिंग:

0

विभाग:

साहित्य

पृष्ठों की संख्या:

318

फ़ाइल का आकार:

1068800 MB

किताब की गुणवत्ता :

अच्छा

एक किताब डाउनलोड करें:

49

अधिसूचना

यदि आपको पुस्तक प्रकाशित करने पर आपत्ति है तो कृपया हमसे संपर्क करें [email protected]

प्रसिद्ध कवि, उपन्यासकार और नाटककार अलेक्जेंडर पुश्किन का जन्म 6 जून, 1799 को मास्को में हुआ था। एक कुलीन परिवार में पले-बढ़े, उन्होंने विलासिता का जीवन व्यतीत किया। उनके पिता, जो स्वयं एक प्रमुख कवि थे, ने सिकंदर की काव्य प्रतिभा को निखारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। दिलचस्प बात यह है कि पुश्किन की वंशावली का पता इथियोपिया से लगाया जा सकता है। उनकी मां, नादेज़द ओसिपावना, एक अफ्रीकी इब्राहिम जानिपाल की पोती थीं, जो ज़ार पीटर प्रथम के करीबी अधिकारी के रूप में कार्यरत थे। परिणामस्वरूप, पुश्किन को कुछ अफ्रीकी विशेषताएं विरासत में मिलीं, जिनमें घुंघराले बाल और मोटे होंठ शामिल थे।

पुश्किन को उन्नीसवीं सदी के महानतम रूसी कवियों में से एक माना जाता है और अक्सर उन्हें "कवियों का राजकुमार" कहा जाता है। उनकी कविता के अध्ययन से समग्र रूप से रूसी साहित्य की गहरी समझ पैदा होती है, साथ ही उन्नीसवीं शताब्दी के पूर्वार्द्ध के दौरान ज़ार पीटर I से निकोलस I तक के शासनकाल में हुई ऐतिहासिक घटनाओं की भी गहरी समझ पैदा होती है।

उनका युग, जिसे रूसी कविता का स्वर्ण युग कहा जाता है, रूसी, अरबी और ओरिएंटल साहित्य के बीच एक अभिसरण देखा गया। हालाँकि, इसे सामाजिक निरंकुशता द्वारा भी चिह्नित किया गया था, जिसमें ज़ार और कुलीन वर्ग के बीच शक्ति केंद्रित थी। अपनी काव्य रचनाओं के माध्यम से, पुश्किन ने सामाजिक व्यवस्था के प्रति अपना असंतोष व्यक्त किया और लोगों के लिए स्वतंत्रता और लोकतांत्रिक सिद्धांतों का आह्वान किया। वह रूसी कुलीन वर्ग की शक्ति को सीमित करने और लोगों के बीच अधिक लोकतांत्रिक व्यवस्था को आगे बढ़ाने की वकालत करने वाले अग्रणी व्यक्ति थे।

दुखद बात यह है कि पुश्किन का जीवन 38 वर्ष की आयु में उनकी पत्नी के मित्र बैरन डेटिन के प्रति नाराजगी के कारण उत्पन्न द्वंद्व के कारण समाप्त हो गया। द्वंद्व के परिणामस्वरूप गंभीर चोटें आईं और 1837 में पुश्किन ने दम तोड़ दिया। फिर भी, उन्होंने एक अमिट साहित्यिक विरासत छोड़ी, और उनके पाठक आज भी उनके कार्यों के गहरे प्रभाव को महसूस करते हैं, जैसे कि उन्होंने अपने जीवनकाल को पार कर लिया हो।

पुस्तक का विवरण

Пиковая дама पुस्तक पीडीएफ को पढ़ें और डाउनलोड करें अलेक्जेंडर पुश्किन

«Пиковая дама» – одна из самых загадочных повестей А.С. Пушкина. Одноименная опера П.И. Чайковского, регулярные театральные постановки и солидное количество экранизаций красноречиво свидетельствуют о невероятной популярности этого произведения, а знаменитые «тройка, семерка, туз» известны даже тем, кто незнаком с историей Германна. Не уступают в популярности и литературной значимости и поэмы «Полтава», «Медный всадник», «Руслан и Людмила» – совершенно разные в сюжетном отношении произведения объединяет читательская и зрительская любовь, будь то постановки на сцене, кинокартины на экране или чтение оригинала. В состав сборника также входят и другие прозаические и поэтические шедевры, без которых невозможно составить представление о столь разнообразном творчестве великого поэта.

पुस्तक समीक्षा

0

out of

5 stars

0

0

0

0

0

Book Quotes

Top rated
Latest
Quote
there are not any quotes

there are not any quotes

और किताबें अलेक्जेंडर पुश्किन

Песнь о вещем Олеге
Песнь о вещем Олеге
नाटक उपन्यास
733
Russian
अलेक्जेंडर पुश्किन
Песнь о вещем Олеге पुस्तक पीडीएफ को पढ़ें और डाउनलोड करें अलेक्जेंडर पुश्किन
Руслан и Людмила
Руслан и Людмила
नाटक उपन्यास
751
Russian
अलेक्जेंडर पुश्किन
Руслан и Людмила पुस्तक पीडीएफ को पढ़ें और डाउनलोड करें अलेक्जेंडर पुश्किन
Дубровский
Дубровский
साहित्यिक उपन्यास
803
Russian
अलेक्जेंडर पुश्किन
Дубровский पुस्तक पीडीएफ को पढ़ें और डाउनलोड करें अलेक्जेंडर पुश्किन
Евгений Онегин
Евгений Онегин
साहित्यिक उपन्यास
736
Russian
अलेक्जेंडर पुश्किन
Евгений Онегин पुस्तक पीडीएफ को पढ़ें और डाउनलोड करें अलेक्जेंडर पुश्किन

Add Comment

Authentication required

You must log in to post a comment.

Log in
There are no comments yet.